Sunday, June 14, 2020

सोचिए क्या आप सही कर रहे है अपने बच्चे की फोटो सोसल मीडिया मे पोस्ट कर के ??




 आज के समय  में शायद ही कोई ऐसा महानुभाव  इंसान  होगा जो किसी ना किसी सोशल मीडिया प्लेटफार्म से 
जुड़ा ना हो। आमतौर पर, हम सभी अपनी अपने बच्चों की कई तरह की तस्वीरें सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हैं। यह हम सभी के जीवन का एक हिस्सा है, लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि इस तरह बच्चों की तस्वीरें सोशल साइट पर डालकर कहीं आप उनकी सुरक्षा के साथ किसी तरह का खिलवाड़ तो नहीं कर रहीं। जी हां, आपको शायद अहसास ना हो लेकिन मस्ती-मस्ती में आपके द्वारा आपके जिगर के टुकड़े की पोस्ट की गई महज एक तस्वीर भी क्रिमिनल्स के काफी काम सकती है। वैसे भी बच्चे किसी भी क्रिमिनल माइंड के लिए बेहद आसान आसान और मासूम शिकार होते हैं। इसलिए यह बेहद जरूरी है कि आप बच्चे की तस्वीरें पोस्ट करते समय बहुत शाबधानी बरतनी चाहिए


अब आप यह जरूर सोच रहे होंगे  की कैसे एक तस्वीर से बच्चों को नुकसान हो सकता है या फिर अगर आप बच्चे की तस्वीर ऑनलाइन पोस्ट कर रही हैं तो आपको किन बातों का जरूरत से ज्यादा  ध्यान रखना चाहिए। तो हम आपको,आपके सवालों जवाब का जवाब देते हैं




पोस्टो पढ़ने के बाद आप किरप्या करके अपने कमैंट्स जरुरु देना और अगर अच्छा लगे तो शेयर भी जरुरु करना कि बच्चे की तस्वीरें सोशल मीडिया पर डालने से क्या नकारात्मक प्रभाव हो सकते हैं और आपको किन बातो का ध्यान रखना चाहिए-





कुछ लोग  मजे मजे मे  और शौक-शौक में बच्चे की बहुत साडी तस्वीरें पोस्ट करते रहते हैं। उन लोगो लो इसमें 

कोई बुराई नजर नहीं आती। लेकिन इस तरह बिना सोचे समझे बच्चे की कोई भी तस्बीर और कैसी भी तस्वीर अपराधियों के लिए ऑनलाइन चारा साबित हो सकती हैं। बच्चों की तस्वीरों को कई तरीकों से मॉडिफाई किया जा सकता है। ऐसे में अपराधी आपकी किसी भी तस्बीर का कई गलत तरह से इस्तेमाल कर सकते हैं। इसलिए बच्चे की जरूरत से ज्यादा तस्वीरें सोशल मीडिया पर पोस्ट करने से बचें।


अगर आप बच्चे की कोई भी तस्वीर पोस्ट कर रहे हैं तो यह जरूरी है कि इससे उसकी और आपकी करंट लोकेशन उजागर ना हो। अगर बच्चा स्कूल की यूनिफार्म  में है तो उसकी तस्वीर खींचकर पोस्ट ना करें। इससे अपराधी जान सकता है  की बच्चा किस स्कूल में पढ़ता है। अगर आप उनकी अलग-अलग तस्वीरें बार-बार पोस्ट करते हैं तो कोई भी आपके बच्चो के रूटीन को आसानी से समझकर उन्हें अपना शिकार बना सकता है।





कुछ लोग तो बच्चे की नहाते हुए या फिर किसी बात पर उन्हें डांटते हुए तस्वीरें पोस्ट ना करें। इस तरह की तस्वीरें 
बच्चों की आत्मबल को काफी नुकसान पहुंचा सकती हैं। आपको शायद इस बात का अंदाजा ना हो, लेकिन इस तरह  की तस्वीरें अगर सोशल मीडिया पर पोस्ट करोगे तो इससे बच्चे को मानसिक रूप से काफी कष्ट होता है। यहां तक कि सात आठ साल से कम उम्र का बच्चा भी सोशल मीडिया के इस प्रभाव से बच नहीं पाता।


हो सकता है कि जो फोटो आपने अपने बच्चे  पोस्ट की हो वो तस्वीर उसी की क्लास के दूसरों बच्चों ने देखी हो, ऐसे
 में वे उसे परेशान कर सकते हैं या फिर उस तस्वीर को आगे भी शेयर कर सकते हैं। इसलिए ऐसी किसी भी तस्वीर को पोस्ट करने से बचें।     

हम एक और बड़ी गलती करते हैं। जब भी हमारे बच्चे कुछ अच्छा करते हैं तो हम उसे सभी को दिखाना और 
बताना चाहते हैं। इसलिए वह तस्वीरें क्लिक करके हम सोशल मीडिया पर पोस्ट कर देते हैं। उस समय तो इससे कोई प्रभाव नहीं पड़ता, लेकिन लंबे समय में इसके कोई न कोई  नकारात्मक परिणाम बच्चों के व्यवहार में देखने को मिलते हैं। सबसे पहले तो अगर बच्चे की तस्वीर को अच्छे कमेंट्स या लाइक मिलते हैं तो इससे बच्चे के व्यवहार में एक अजीब सा बदलाव आ जाता है। वह खुद को एक स्टार समझने लगता है और उसी की तरह व्यवहार करता है।   

No comments:

Post a Comment