Saturday, March 14, 2020

मानव की सभी सभ्यताओं को हिन्दू सनातन धर्म की शीतल छांव में आना ही होगा...!!


आज कोरोना नामक एक मामूली से वायरस ने विश्व इकोनॉमी को औंधे मुंह गिरा दिया है. और, चीन समेत दुनिया के सभी देश डर के मारे त्राहि माम त्राहि माम चिल्ला रहे हैं...!

कहा जाता है कि इस वाईरस के कारण चीन कम से कम पांच साल पीछे चला गया है.

साथ ही दुनिया भर को जितने का ख्वाब देखने वाला चीन, आज उसने अपने सारे  प्रोजेक्ट बंद करने पड़े जो उसने पच्चीस से ज्यादा देशों में चला रखे हैं.

ईरान, इटली देशो का तो इससे भी ज्यादा बुरा हाल है, वहां करोड़ो से अधिक लोग अपने ही घरों में कैद हैं.

हजारों मारे गये और, दुनिया खरबों डॉलर का नुकसान झेल रही है.

और तो और. दुनिया भर में जिहाद चलाने वाले और खुदा के सिवा किसी और से ना डरने का दावा करने वाले... डर के मारे मक्का-मदीना में भी कदम नहीं रख रहे हैं, और, मक्का मदीना वीरान पड़ा है.

अब लोगो की समझ में बात गई है कि.... हमारा सनातन हिन्दू धर्म हजारों लाखों सालों से प्रकृति की पूजा पर इतना जोर क्यों देता है ?

अब तो देखेने  मे रहा  है की अब लोग हाथ नहीं मिला रहे है और वो सिर्फ हाथ जोड़ कर नमस्ते कर रहे है जो हमारे सनातन हिन्दू धर्म मे होता है

हमारा सनानत धर्म, अगर नदियों पेड़ों पहाड़ों सूर्य बादल हवा को पूजनीय बताता है, तो, इसका ठोस वैज्ञानिक कारण है.

अब ये भी समझ गया होगा कि, रोज नहाने (खुद की साफ-सफाई), सूर्य को जल चढ़ाने (उगते सूर्य के प्रकाश में खड़ा होना),  हर पर्व-त्योहार में घर की सफाई.... यज्ञ-हवन आदि के माध्यम से घर समेत पूरे मुहल्ले को सैनिटाइज करने का महत्व क्या है ?

साथ ही... किसी से हाथ मिलाने की जगह उसे प्रणाम करना....

और, मृतक को दफनाने की जगह जला देने की परंपरा का महत्व समझ गई होगी दुनिया को.


इसीलिए एक बात याद रखें कि…….

अगर धरती और धरती पर मौजूद मानव सभ्यता को बचाना है तो...

अंततः.... मानव की सभी सभ्यताओं को हिन्दू सनातन धर्म की शीतल छांव में आना ही होगा...!!

दोस्तो मेरी यही कोशिस है कि मैं आप को सच बताऊ अगर आपको किसी भी तरह का डाउट है तो किर्पया मैसेज करे और अगर अच्छा लगे तो प्लीज शेयर जरूर करें !!

No comments:

Post a Comment